Biology (NTSE/Olympiad)  

6. प्रजनन

अलैंगिक प्रजनन

जीवित जीवों की स्वयं के समान नए जीव उत्पन्न करने की क्षमता प्रजनन कहलाती है।
जनन के प्रकार:
अलैंगिक प्रजनन:
एकल जीव सामान्यत: बहुगुणन द्वारा अलैंगिक प्रजनन करता है। अलैंगिक पैतृक के विशिष्टीकृत अथवा अविशिष्टीकृत भागों से बिना युग्मकों के निर्माण या संलयन के नयी व्यष्ठी के निर्माण की प्रक्रिया है। एक पैतृक से नए जीव के निर्माण के कारण अलैंगिक प्रजनन को एकलपैतृक कहा जाता है।
विखण्डन (L. फीसस-खांच) : ये अलैंगिक प्रजनन का एक अलैंगिक तरीका है जिससे एक पैतृक के विभाजित होकर दो या दो से अधिक जीव निर्मित करते हैं। विखण्डन दो प्रकार का होता है, द्विविखण्डन एवं बहुविखण्डन।
द्विविखण्डन: इसका अर्थ है ‘दो भागों में टूटना’। द्विविखण्डन में केन्द्रक अथवा केन्द्रकीय पदार्थ का दीघ्र्ाीकरण होता है तथा फिर दो भागों में विभाजित होता है। इसमें दो पुत्राी केन्द्रकों के मध्य जीवद्रव्य के विदलन द्वारा दो पुत्राी व्यष्टि निर्मित होती है।

यदि आप भी दुसरे स्टूडेंट्स / छात्र को ऑनलाइन पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी देना चाहते है तो इसे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर अधिक से अधिक शेयर करे | जितना ज्यादा शेयर होगा, छात्रों को उतना ही लाभ होगा | आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए है |

×

एन. टी. एस. ई . Biology (कक्षा X)


एन. टी. एस. ई . Biology (कक्षा IX)


विस्तार से अध्याय देखें

भौतिक विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

रसायन विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

भूगोल CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

जीव विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

लोकतांत्रिक राजनीति CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

अर्थशास्त्र CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

इतिहास CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें