NTSE Biology (Class X)


NTSE Biology (Class IX)

  • कोशिका
    • एक कोशिकीय तथा बहु कोशिकीय जीव
    • कोशिकाओं की परासंरचना
    • प्लाज्मा झिल्ली
    • कोशिका भित्ति
    • केन्द्रक, केन्द्रक की संरचना, tatha केन्द्रक के कार्य
    • कोशिका द्रव्य, कोशिकांग, tatha अन्त: प्रद्रव्यी जालिका
    • गाॅल्जी उपकरण
    • लाइसोसोम
    • माइटोकाॅन्ड्रिया
    • लवक
    • रिक्तिकाएँ
  • उत्तक
    • ऊत्तक
    • रन्ध्र thata रन्ध्र की संरचना
    • जन्तु ऊत्तक
    • ग्रंथिल उपकला
    • संयोजी ऊत्तक
    • कंकालीय ऊत्तक
    • तरल संयोजी ऊत्तक : (संवहनी ऊत्तक)
  • खाद्य संसाधनों में सुधार
    • फसल ऋतु
    • फसल किस्म सुधार
    • फसल उत्पाद प्रबन्धन
    • पोषक प्रबंधन
    • खाद एवं उर्वरक
    • उर्वरक
    • सिंचाई
    • कृषि के प्रकार
    • फसल चक्र
    • कार्बनिक कृषि
    • फसल सुरक्षा प्रबंध
    • रोग नियंत्रण
    • अनाजों का संग्रह
  • जीवित जीवों में विभिन्नता
    • वर्गीकरण
    • वर्गीकरण समूहों का पदानुक्रम
    • द्विपदनाम नामकरण
    • जगत वर्गीकरण
    • जगत : मोनेरा (Gk. मोनोस - एकल)
    • जगत : प्रोटिस्टा (Gk. प्रोटिस्टोस-सर्वप्रथम)
    • जगत : कवक
    • जगत : प्लांटी तथा एनिमेलिया
    • प्रभाग : ब्रायोफायटा
    • प्रभाग : टेरिडोफायटा
    • अनावृत्त बीजी (जिम्नोस्पर्म)
    • आवृत्तबीजी (एन्जियोस्पर्म)
    • जगत : ऐनिमेलिया या जन्तु जगत
    • संघ : पोरिफेरा
    • संघ : निडेरिया (सिलेन्ट्रेटा)
    • संघ - प्लेटीहेल्मिन्थिज
    • संघ - ऐस्केल्मिन्थिज या निमेटोडा
    • संघ - एनेलिडा
    • संघ - आर्थोपोडा
    • संघ - मोलस्का
    • संघ - ईकाईनोडर्मेटा
    • संघ - कोर्डेटा
    • उप-संघ : प्रोटोकोर्डेटा
    • उप-संघ : कशेरूकी (वर्टीबे्रटा)
  • मानव रोग
    • स्वास्थय
    • रोग के स्त्रोत (कारण)
    • रोगों के प्रकार
    • प्रसार के साधन
    • उपचार के सिद्धान्त
    • रोकथाम के सिद्धान्त
  • प्राकृतिक संसाधन
    • प्राकृतिक संसाधन
    • जीवन की श्वांस : वायु
    • वायु प्रदूषण
    • जल : एक चमत्कारी द्रव
    • जल प्रदूषण
    • मृदा
    • जैव भूरासायनिक चक्र