Biology (NTSE/Olympiad)  

3. परिवहन

वाष्पोत्सर्जन

पादप के वायवीय भागों द्वारा जल की वाष्प के रूप में हानि वाष्पोत्सर्जन कहलाता है। वाष्पोत्सर्जन 3 प्रकार का होता है। – वातरंधी्रय, अधिचर्मीय, तथा पर्ण रंध्रीय।
वातरंध्रीय - काष्ठ में उपस्थित वातरंध्रो द्वारा वाष्प के रूप में जल की हानि वातरंध्रीय वाष्पोत्सर्जन कहलाता है। यह कुल वाष्पोत्सर्जन का 0.1% होता है।
अधिचर्मीय - पर्ण तथा अन्यवायवीय पादप भागों द्वारा जल की वाष्प के रूप में हानि अधिचर्मीय वाष्पोत्सर्जन कहलाता है।
पर्ण रंध्रीय - पर्ण तथा पादप के कोमल भागों पर स्थिति पर्ण रंध्र द्वारा जल की वाष्प के रूप में हानि को पर्ण रंध्रीय वाष्पोत्सर्जन कहते है। पर्ण रंध्र जब गैसों के आदान प्रदान हेतु खुली अवस्था में होते है। वाष्पोत्सर्जन भी होता है।


यदि आप भी दुसरे स्टूडेंट्स / छात्र को ऑनलाइन पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी देना चाहते है तो इसे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर अधिक से अधिक शेयर करे | जितना ज्यादा शेयर होगा, छात्रों को उतना ही लाभ होगा | आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए है |

×

एन. टी. एस. ई . Biology (कक्षा X)


एन. टी. एस. ई . Biology (कक्षा IX)


विस्तार से अध्याय देखें

भौतिक विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

रसायन विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

भूगोल CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

जीव विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

लोकतांत्रिक राजनीति CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

अर्थशास्त्र CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

इतिहास CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें