Chemistry (NTSE/Olympiad)  

1. धातु एवं अधातु

प्रकृति में धातुओं की प्राप्ति

प्रकृति में धातुये मुक्त अवस्था या संयुक्त अवस्था में प्राप्त होती है। धातु को नवजात या मुक्त तब कहा जायेगा जब यह प्रकृति में धात्विक अवस्था में पायी जाती है। उदाहरण के लिए गोल्ड (सोना) धातु के रूप में पाया जा सकता है। क्योंकि जब गोल्ड़ को प्रायोगिक रूप से वायु में रखा जाता है तो कोर्इ परिवर्तन नहीं होता। यह वायु, नमी, ऑक्सीजन तथा कार्बन डार्इ ऑक्साइड़ से क्रिया नहीं करता। अत: वे धातुये जो वायु की नमी, ऑक्सीजन तथा कार्बन डार्इ ऑक्साइड़ से अप्रभावित रहती है, नवजात या मुक्त अवस्था में पार्इ जाती है। अन्य शब्दों में अक्रियाशील धातुये प्रकृति में मुक्त अवस्था में मिलती है इसका कारण रासायनिक अभिकर्मकों के प्रति कम क्रियाशीलता होती है। अक्रियाशील धातु का एक अन्य उदाहरण सिल्वर (चाँदी) है। क्रियाशील धातुये अर्थात् वे धातुये जो नमी, ऑक्सीजन, कार्बन डार्इ ऑक्साइड़ या अन्य रासायनिक आभिकर्मकों के साथ क्रिया करती है, प्रकृति में मुक्त अवस्था में नहीं मिलती। लेकिन यौगिकों के निर्माण में संयुक्त अवस्था में होती है। सामान्यतया धातुये, अधात्विक तत्वों के साथ संयुक्त अवस्था में मिलती है। नवजात की प्राप्ति तुलनात्मक रूप से कठिन होती है।

यदि आप भी दुसरे स्टूडेंट्स / छात्र को ऑनलाइन पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी देना चाहते है तो इसे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर अधिक से अधिक शेयर करे | जितना ज्यादा शेयर होगा, छात्रों को उतना ही लाभ होगा | आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए है |

×

एन. टी. एस. ई . Chemistry (कक्षा X)


एन. टी. एस. ई . Chemistry (कक्षा IX)


विस्तार से अध्याय देखें

भौतिक विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

रसायन विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

भूगोल CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

जीव विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

लोकतांत्रिक राजनीति CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

अर्थशास्त्र CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

इतिहास CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें