Economics (NTSE/Olympiad)  

3. मुद्रा तथा साख

बैंकों की ऋण संबंधी गतिविधियाँ

1. बैंक जमा रकम का एक छोटा हिस्सा नकद के रूप में अपने पास रखते है। (इनकी अभिपूर्ति के लिए लगभग 15%)
2. बैंक जमा राशि के बड़े भाग को ऋण देने के लिए इस्तेमाल करते है। बैंक जमा राशि का लोगों की ऋण आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए इस्तेमाल करते है।
3. इस तरह, बैंक जिनके पास अतिरिक्त राशि है एवं जिन्हें राशि की जरूरत है के बीच मध्यस्थता का काम करते है।
4. बैंक जमा दर पर जो ब्याज देते है उससे ज्यादा ब्याज ऋण पर लेते है। कर्जदारों से लिए गये ब्याज और जमाकर्ताओं को दिये गये ब्याज के बीच का अंतर बैंकों की आय का प्रमुख स्त्रोत है।
साख :
इससे हमारा तात्पर्य एक सहमति से है जहाँ साहुकार कर्जदार को धन, वस्तुएँ या सेवाएँ मुहैया कराता है और बदले में भविष्य में कर्जदार से भुगतान करने का वादा लेता है।
साख का महत्व :
1. यह लोगों को घर खरीदने के लिए सहायता करता है।
2. यह व्यापारी को अपने व्यापार को फैलाने में मदद करता है।
3. जमा दर और कजऱ् दर के मध्य अन्तर बैंकों के लिए आय का स्त्रोत है।
4. ग्रामीण क्षेत्रों में, ऋण की मुख्य मांग फसल उत्पादन के लिए होती है। इन आगतों को खरीदने और फसल की बिक्री होने के बीच कम से कम 3-4 महीने का अंतराल होता है। आमतौर से किसान ऋतु के आरम्भ में फसल उगाने के लिए उधार लेते है और फसल तैयार होने के बाद वापस कर देते है। उधार की अदायगी मुख्यत: फसल की कमार्इ पर निर्भर है।
साख की हानियाँ :
1. बैंक ब्याज की बहुत उच्च दर रखता है जिसका अर्थ हैं कर्जदार की जमा राशि का बड़ा भाग ऋण चुकाने के लिए उपयोगी होता है।
2. यदि कर्जदार ऋण लौटाने में असमर्थ रहता है, तो बैंक कर्जदार का माल बेचने का अधिकार रखता है।
3. यदि ऋण अनउपयोगी गतिविधि में हो, तो कर्जदार अपने ही कर्ज के जाल में फंस सकता है।
4. बैंक गरीब लोगों को कोर्इ ऋण उपलब्ध नहीं करवाते है, क्योंकि ये कोर्इ औपचारिक सुरक्षा नहीं रखते है।

यदि आप भी दुसरे स्टूडेंट्स / छात्र को ऑनलाइन पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी देना चाहते है तो इसे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर अधिक से अधिक शेयर करे | जितना ज्यादा शेयर होगा, छात्रों को उतना ही लाभ होगा | आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए है |

×

एन. टी. एस. ई . Economics (कक्षा X)


एन. टी. एस. ई . Economics (कक्षा IX)


विस्तार से अध्याय देखें

भौतिक विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

रसायन विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

भूगोल CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

जीव विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

लोकतांत्रिक राजनीति CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

अर्थशास्त्र CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

इतिहास CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें