Economics (NTSE/Olympiad)  

2. भारतीय अर्थव्यवस्था के क्षेत्राक

प्रच्छन्न बेरोजगारी

यह वह स्थिति है जिसमें श्रमिक आवश्यकता से अधिक कार्य कर रहे है।
स्थिति जहाँ लोग प्रत्यक्ष रूप से कार्य कर रहे है, परन्तु ये सब इनकी क्षमता से कम कार्य करते है। इस प्रकार की अल्प बेरोजगारी को छिपी हुर्इ कहते है क्योंकि यह उन लोगो की बेरोजगारी है, जिनके पास कोर्इ रोजगार नहीं है और बेकार बैठे हुए है, से अलग है (खुली बेरोजगारी)। इसलिए इसे प्रच्छन्न बेरोजगारी भी कहा जाता है। अल्प बेरोजगोरी दूसरे क्षेत्राकों में भी हो सकती है। शहरो में सेवा क्षेत्राक में हजारो अनियत श्रमिक है जो दैनिक रोजगार की तलाश करते है। वे प्लम्बर, पेन्टर, मरम्मत कार्य जैसे रोजगार करते है। ओर अन्य लोग असुविधाजनक विषम काम करते है। इनमें से कर्इ रोजाना काम नहीं पाते है। ये यह काम इसलिए करते है क्योंकि इनके पास कोर्इ बेहतर अवसर नहीं है।
खुली बेरोजगारी तथा छिपी बेरोजगारी के मध्य अन्तर :
खुली बेरोजगारी छिपी बेरोजगोरी से भिन्न है। खुली बेरोजगारी में कुछ लोग जिनके पास रोजगार नहीं है ओर बेकार बैठै हुए है। जबकि छिपी बेरोजगारी में हम बेरोजगारी की छिपी स्थिति पाते है। यह खुली बेरोजगारी नहीं है।
बेरोजगारी के दोनों प्रकार – खुली बेरोजगारी तथा छिपी बेरोजगारी में अन्तर समझने पर हम निम्न उदाहरण लेते है।
उदाहरण के लिए हम गांव के एक छोटे किसान का उदाहरण लेते है। जिसके पास दो हेक्टेयर असिंचित भूमि है। उसके परिवार के सभी सात सदस्य उस भूमि पर वर्ष भर काम करते है। क्यो ? क्योंकि उन्हे कही ओर रोजगार उपलब्ध नहीं है। आप देंखेंगे कि प्रत्येक व्यक्ति काम कर रहा है, कोर्इ बेकार नहीं है। परन्तु वास्तव में उनक श्रम-प्रयास विभाजित है। प्रत्येक कुछ काम कर रहा है परन्तु किसी को भी पूर्ण रोजगार प्राप्त नहीं है। यह अल्प बेरोजगोरी है, जिनके पास कोर्इ रोजगार नहीं है और बेकार बैठे हुए है। इसलिए इसे प्रच्छन्न बेरोजगारी भी कहा जाता है।

यदि आप भी दुसरे स्टूडेंट्स / छात्र को ऑनलाइन पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी देना चाहते है तो इसे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर अधिक से अधिक शेयर करे | जितना ज्यादा शेयर होगा, छात्रों को उतना ही लाभ होगा | आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए है |

×

एन. टी. एस. ई . Economics (कक्षा X)


एन. टी. एस. ई . Economics (कक्षा IX)


विस्तार से अध्याय देखें

भौतिक विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

रसायन विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

भूगोल CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

जीव विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

लोकतांत्रिक राजनीति CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

अर्थशास्त्र CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

इतिहास CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें