Economics (NTSE/Olympiad)  

1. विकास

जीवन का सतत पोषणीय विकास तथा गुणवत्ता

सतत पोषणीय विकास : यह आर्थिक विकास की प्रक्रिया है जिसका उद्देश्य प्राकृतिक संसाधनों तथा पर्यावरण में बिना किसी हानि के वर्तमान तथा भविष्य पीढ़ियो दोनों के जीवन की गुणवत्ता बनाए रखना है।
सतत पोषणीय विकास की विशेषताएँ :
1. प्राकृतिक संसाधनों के कार्य कुशल उपयोग :
इसका अर्थ है कि प्राकृतिक संसाधन तथा पर्यावरण कार्य कुशल तरीके में उपयुक्त होगा जो आय में वृद्धि तथा रोजगार, निर्धनता के उन्मूलन, जीवन स्तर में सुधार आदि में उद्देश्य के रूप में प्राप्त होगा।
2. भविष्य में जीवन की गुणवत्ता में कोर्इ कटौती नहीं :
सतत पोषणीय विकास का उद्देश्य प्राकृतिक संसाधनों तथा पर्यावरण के उपयोग से वर्तमान जीवन शैली को बढ़ाना है इस तरह से भविष्य की पीढ़ियो के जीवन की गुणवत्ता नीचे नहीं गिरेगी।
3. प्रदूषण में कमी नहीं :
यह उन गतिविधियों को कम करता है जिनमें उच्च जीवन शैली क्रम में बनी रहती है यह प्राकृतिक संसाधनों तथा पर्यावरण को हानिकारक सिद्ध करता है।
4. सीमा विकास नहीं करता :
यह सीमित आर्थिक विकास का उद्देश्य नहीं है। इसका उद्देश्य है कि प्राकृतिक संसाधन तथा पर्यावरण इस प्रकार से उपयोग किया जाता है कि यह केवल वर्तमान बल्कि भविष्य के आर्थिक विकास की दर भी बनाए रखता है।

यदि आप भी दुसरे स्टूडेंट्स / छात्र को ऑनलाइन पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी देना चाहते है तो इसे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर अधिक से अधिक शेयर करे | जितना ज्यादा शेयर होगा, छात्रों को उतना ही लाभ होगा | आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए है |

×

एन. टी. एस. ई . Economics (कक्षा X)


एन. टी. एस. ई . Economics (कक्षा IX)


विस्तार से अध्याय देखें

भौतिक विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

रसायन विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

भूगोल CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

जीव विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

लोकतांत्रिक राजनीति CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

अर्थशास्त्र CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

इतिहास CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें