Geography (NTSE/Olympiad)  

3. कृषि

अखाद्य फसलें

रबड़ :
लक्षण :
1. रबड़ भूमध्यरेखीय क्षेत्रा की फसल हैं।
2. यह उष्ण और उपोष्ण क्षेत्रों में भी उगार्इ जाती है।
3. यह एक प्रकार का प्राकृतिक प्लास्टिक हैं जिसमें वैद्युत की अचालकता, प्रत्यास्था आदि मुल्यवान गुण पाए जाते है।
4. यह उद्योगों में कच्चे माल के रूप में उपयोग आता है।
5. प्राकृतिक रबड़ के उत्पादन में भारत को विश्व में पाँचवा स्थान प्राप्त हैं।
भौगोलिक आवश्यकताएँ :
1. तापमान : 25ºC से अधिक
2. वर्षा :
1. अच्छी और अधिक वर्षा के वितरण की आवश्यता।
2. 200 cm से 400 cm तक
3. मृदा :
1. जलोढ़ या लेटराइट मिट्टी।
4. उत्पादक क्षैत्रा :
1. केरल रबड़ का सबसे बड़ा उत्पादक राज्य हैं।
2. केरल कुल क्षेत्रा के 91 % पर रबड़ का उत्पादन करता है।
3. तमिलनाडु, कर्नाटक, अंडमान निकोबार द्वीप समूह और मेघालय की गारो पहाड़ियों में उगाया जाता है।
रेशेदार फसलें :
लक्षण :
1. भारत में उगार्इ जाने वाली चार मुख्य रेशेदार फसलें :
1. कपास 2. जूट 3. सन 4. प्राकृतिक रेशम
2. कपास, जूट, सन मिट्टी में फसल उगाने से प्राप्त होती है।
3. प्राकृतिक रेशम कीड़े के कोकून से प्राप्त होता है जो मलबरी पेड़ की हरी पत्तियों पर पलता है।
4. रेशम उत्पादन के लिए रेशम के कीड़ों का पालन रेशम उत्पादन (sericulture) कहलाता है।

यदि आप भी दुसरे स्टूडेंट्स / छात्र को ऑनलाइन पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी देना चाहते है तो इसे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर अधिक से अधिक शेयर करे | जितना ज्यादा शेयर होगा, छात्रों को उतना ही लाभ होगा | आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए है |

×

एन. टी. एस. ई . Chemistry (कक्षा X)


एन. टी. एस. ई . Chemistry (कक्षा IX)


विस्तार से अध्याय देखें

भौतिक विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

रसायन विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

भूगोल CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

जीव विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

लोकतांत्रिक राजनीति CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

अर्थशास्त्र CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

इतिहास CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें