Geography (NTSE/Olympiad)  

2. विनिर्माण उद्योग

एल्यूमिनियम प्रगलन

1. भारत में एल्यूमिनियम प्रगलन दूसरा सर्वाधिक महत्वपूर्ण धातु शोधन उद्योग है।
2. यह हल्का, जंग अवरोधी, ऊष्मा का सुचालक, लचीला तथा अन्य धातुओं के मिश्रण से अधिक कठोर बनाया जा सकता है।
3. कर्इ उद्योगों में इसका महत्व इस्पात, ताँबा, जस्ता व सीसे के विकल्प के रूप में प्रयुक्त होने से बढ़ा है।
4. देश में 8 एल्यूमिनियम प्रगलन संयंत्रा हैं जो उड़ीसा, पं. बंगाल, केरल, उत्तर प्रदेश छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र व तमिलनाडु राज्यों में स्थित है।
5. प्रगलकों में बॉक्साइट का कच्चे पदार्थ के रूप में (जो भारी, गहरे लाल रंग की चट्टान जैसा होता है) प्रयोग किया जाता है।
उद्योग की स्थापना की महत्वपूर्ण आवश्यकताऐं :
1. नियमित ऊर्जा की पूति।
2. कम कीमत पर कच्चे माल की सुनिश्चित उपलब्धता।

यदि आप भी दुसरे स्टूडेंट्स / छात्र को ऑनलाइन पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी देना चाहते है तो इसे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर अधिक से अधिक शेयर करे | जितना ज्यादा शेयर होगा, छात्रों को उतना ही लाभ होगा | आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए है |

×

एन. टी. एस. ई . Chemistry (कक्षा X)


एन. टी. एस. ई . Chemistry (कक्षा IX)


विस्तार से अध्याय देखें

भौतिक विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

रसायन विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

भूगोल CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

जीव विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

लोकतांत्रिक राजनीति CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

अर्थशास्त्र CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

इतिहास CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें