Geography (NTSE/Olympiad)  

2. विनिर्माण उद्योग

औद्योगिक प्रदूषण तथा पर्यावरण निम्नीकरण

उद्योग चार प्रकार के प्रदूषण के लिए उत्तरदायी हैं -
(a) वायु (b) जल (c) भूमि (d) ध्वनि
वायु प्रदूषण :
1. अधिक अनुपात में अनचाही गैसों की उपस्थिति जैसे सल्फर डाइऑक्साइड तथा कार्बन मोनोऑक्साइड वायु प्रदूषण के कारण है।
2. वायु में निलंबित कणनुमा पदाथोर्ंमें ठोस व द्रवीय दोनों ही प्रकार के कण होते हैं जैसे μ धूल, स्पे्र, कुहासा तथा धुुआँ। रसायन व कागज उद्योग, र्इंटों के भट्टे, तेल शोधनशालाएँ, प्रगलन उद्योग, जीवाश्म र्इंधन दहन तथा छोटे-बड़े कारखाने प्रदूषण के नियमों का उल्लंघन करते हुए धुंआँ निष्कासित करते हैं।
3. जहरीली गैसों का रिसाव बहुत भयानक तथा दूरगामी प्रभावों वाला हो सकता है।
4. वायु प्रदूषण, मानव स्वास्थ्य, पशुओं, पौधों, इमारतों तथा पूरे पर्यावरण पर दुष्प्रभाव डालते हैं।
जल प्रदूषण :
1. उद्योगों द्वारा कार्बनिक तथा अकार्बनिक अपशिष्ट पदार्थो के नदी में छोड़ने से जल प्रदूषण फैलता हैं। जल प्रदूषण के प्रमुख कारक - कागज, लुग्दी, रसायन, वस्त्रा, तथा रंगार्इ उद्योग, तेल शोधन शालाएँ, चमड़ा उद्योग तथा इलैक्ट्रोप्लेटिंग उद्योग हैं जो रंग, अपमार्जक, अम्ल, लवण तथा भारी धातुएँ जैसे सीसा, पारा, कीटनाशक, उर्वरक, कार्बन, प्लास्टिक और रबर सहित कृित्राम रसायन आदि जल में वाहित करते हैं।
2. भारत के मुख्य अपशिष्ट पदार्थों में फ्लार्इ एश, फोस्फो-जिप्सम तथा लोहा-इस्पात की अशुद्धियाँ (slag) हैं।
तापीय प्रदूषण :
जब कारखानों तथा तापघरों से गर्म जल को बिना ठंडा किए ही नदियों तथा तालाबों में छोड़ दिया जाता है, तो जल में तापीय प्रदूषण होता है।
नाभिकीय प्रदूषण :
परमाणु ऊर्जा संयंत्रों के अपशिष्ट व परमाणु शस्त्रा उत्पादक कारखानों से कैंसर, जन्मजात विकार तथा अकाल प्रसव जैसी बीमारियाँ होती है।
ध्वनि प्रदूषण :
ध्वनि प्रदूषण से खिन्नता तथा उत्तेजना ही नहीं वरन् श्रवण असक्षमता, àदय गति, रक्त चाप तथा अन्य कायिक व्यथाएँ भी बढ़ती है। अनचाही ध्वनि, उत्तेजना व मानसिक चिंता का स्रोत है। औद्योगिक तथा निर्माण कार्य, कारखानों के उपकरण, जेनरेटर, लकड़ी चीरने के कारखाने, गैस यांत्रिक तथा विध्युत ड्रिल (drill) भी अधिक ध्वनि उत्पन्न करते हैं।

यदि आप भी दुसरे स्टूडेंट्स / छात्र को ऑनलाइन पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी देना चाहते है तो इसे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर अधिक से अधिक शेयर करे | जितना ज्यादा शेयर होगा, छात्रों को उतना ही लाभ होगा | आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए है |

×

एन. टी. एस. ई . Chemistry (कक्षा X)


एन. टी. एस. ई . Chemistry (कक्षा IX)


विस्तार से अध्याय देखें

भौतिक विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

रसायन विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

भूगोल CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

जीव विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

लोकतांत्रिक राजनीति CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

अर्थशास्त्र CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

इतिहास CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें