Physics (NTSE/Olympiad)  

2. विध्युत धारा के चुम्बकीय प्रभाव

भूसम्पर्कित करना, लोड आधिक्य और लघुपतित करना

अर्थ करना (भूसम्पर्कित)
परिभाषा : एक उच्च शक्ति वाले विध्युत उपकरण (जैसे विध्युत इस्त्री, रेफ्रिजरेटर, ओवन इत्यादि) को धात्विक सतह को घरेलु परिपथ के अर्थ तार से जोड़ने को, अर्थिंग (भू सम्पर्कित करना) कहा जाता है।

तीन पिन प्लग में, तीन पिन होती है जो एक त्रिभुज का निर्माण करती है। ऊपर की पिन दो नीचे की पिनों से अधिक मोटी होती है। प्लग के अंदर पिनें तीन विभिन्न रंग के तारों से तीन तार वाली केबल से जुड़ी होती हैं। तार के रंग का कोड हरा (अर्थ E), लाल (लाइव–L), काला या भूरा (उदासीन–N) होता है।
लाभ :
लम्बे समय तक प्रयोग करने से कट-फट जाने के कारण, उपकरण के अंदर लाइव तार आवरणहीन हो जाता है और उपकरण के ढाँचे को छू लेता है। यह सम्पर्क उपकरण विभव को लाइव तार के उच्च विभव तक उठा देता है। यदि हम इस तरह के उपकरण को नंगे पावों से प्रयोग करते है तो हमे एक खतरनाक विध्युत का झटका लगेगा।
यदि उपकरण भूसम्पर्कित है, तो उसके ढांचे का विभव, पृथ्वी से सम्पर्कित होने के कारण शून्य हो जाता है। यदि अब इस उपकरण को प्रयोग में लेंगे तो कुछ भी महसूस नहीं होगा। हम निष्कर्ष निकाल सकते हैं कि हम स्वयं को खतरनाक विध्युत झटकों से बचा सकते हैं यदि हम हमारे विध्युत उपकरणों को भूसम्पर्कित (अर्थ) रखते हैं।

यदि आप भी दुसरे स्टूडेंट्स / छात्र को ऑनलाइन पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी देना चाहते है तो इसे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर अधिक से अधिक शेयर करे | जितना ज्यादा शेयर होगा, छात्रों को उतना ही लाभ होगा | आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए है |

×

एन. टी. एस. ई . Physics (कक्षा X)


एन. टी. एस. ई . Physics (कक्षा IX)


विस्तार से अध्याय देखें

भौतिक विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

रसायन विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

भूगोल CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

जीव विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

लोकतांत्रिक राजनीति CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

अर्थशास्त्र CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

इतिहास CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें