Physics (NTSE/Olympiad)  

1. विध्युत

प्रतिरोधकता के आधार पर पदार्थ का वर्गीकरण

पदार्थ जो बहुत कम प्रतिरोधकता रखते है : पदार्थ जो बहुत कम प्रतिरोधकता रखते है उनमें से विध्युत धारा प्रवाहित होने देते है। इस तरह के पदार्थ चालक कहलाते हैं।
उदाहरण के लिए, ताँबा, सोना, चांदी, एलुमिनियम और विध्युत अपघट्य विलयन, चालक हैं।
पदार्थ जो मध्यम प्रतिरोधकता रखते है : पदार्थ जो मध्यम प्रतिरोधकता रखते है, उनमें से बहने वाली विध्युत धारा को प्रर्याप्त प्रतिरोध देते हैं। इसलिए, इस तरह के पदार्थ प्रतिरोध कहलाते हैं। उदाहरण के लिए, मिश्र धातुए जैसे नाइक्रोम, मैंगनीन, कोन्सटेनटन और कार्बन इत्यादि प्रतिरोध है।
पदार्थ जो बहुत अधिक प्रतिरोधकता रखते है : पदार्थ जो बहुत उच्च प्रतिरोधकता रखते है विध्युत को उनमें से प्रवाहित होने नहीं देते हैं। वे पदार्थ जो विध्युत को उनमें से नहीं गुजरने देते कुचालक कहलाते हैं। उदाहरण के लिए रबर, प्लास्टिक, सूखी लकड़ी इत्यादि कुचालक है।

यदि आप भी दुसरे स्टूडेंट्स / छात्र को ऑनलाइन पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी देना चाहते है तो इसे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर अधिक से अधिक शेयर करे | जितना ज्यादा शेयर होगा, छात्रों को उतना ही लाभ होगा | आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए है |

×

एन. टी. एस. ई . Physics (कक्षा X)


एन. टी. एस. ई . Physics (कक्षा IX)


विस्तार से अध्याय देखें

भौतिक विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

रसायन विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

भूगोल CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

जीव विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

लोकतांत्रिक राजनीति CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

अर्थशास्त्र CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

इतिहास CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें