Physics (NTSE/Olympiad)  

3. प्रकाश परावर्तन

समतल दर्पण से परावर्तन

समतल दर्पण से बिम्ब की दूरी तथा प्रतिबिम्ब की दूरी के मध्य सम्बन्ध यह है कि दोनों बराबर होती हैं।
इसकी जाँच के लिए चित्र में दर्शायी गर्इ ज्यामितीय संरचना पर विचार कीजिए। वस्तु O से प्रारम्भ होने वाली किरणें OP तथा OD दर्पण पर आपतित होती है। किरण OP दर्पण के लम्बवत् है तथा PO के अनुदिश पुन: परावर्तित होती है। आपतित किरण OD तथा परावर्तित किरण DE अभिलम्ब DG के साथ समान कोण बनाती है। दोनों परावर्तित किरणे जब पीछे बढ़ायी जाती है तो I पर मिलती है तथा वहाँ एक आभासी प्रतिबिम्ब उत्पन्न करती है।

अब ∠EDG = ∠DIO (DG || IO)
∠EDG = ∠GDO (परार्वतन के नियम) और
∠GDO = ∠DOI (DG || IO).
इस प्रकार ∠DIO = ∠DOI
∴ OD = DI
अब OP2 = OD2 – DP2 और
PI2 = DI2 – DP2
समी. (i) से जबकी OD = DI, OP2 = PI2 or OP = PI.
अत: एक समतल दर्पण की स्थिति में प्रतिबिम्ब दर्पण के पीछे उसी दूरी पर बनता है जिस दूरी पर दर्पण के सामने वस्तु हैं।

यदि आप भी दुसरे स्टूडेंट्स / छात्र को ऑनलाइन पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी देना चाहते है तो इसे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर अधिक से अधिक शेयर करे | जितना ज्यादा शेयर होगा, छात्रों को उतना ही लाभ होगा | आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए है |

×

एन. टी. एस. ई . Physics (कक्षा X)


एन. टी. एस. ई . Physics (कक्षा IX)


विस्तार से अध्याय देखें

भौतिक विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

रसायन विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

भूगोल CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

जीव विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

लोकतांत्रिक राजनीति CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

अर्थशास्त्र CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

इतिहास CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें