Physics (NTSE/Olympiad)  

2. विध्युत धारा के चुम्बकीय प्रभाव

विध्युत मोटर (D.C. मोटर)

(A) सिद्धान्त : यह एक चुम्बकीय क्षेत्र में फ्लैंमिंग के बाये हाथ के नियम के अनुसार, एक धारावाही चालक के गति के सिद्धांत पर कार्य करता है। यह एक यंत्र है जो विध्युत ऊर्जा को घूर्णन की यांत्रिक ऊर्जा में परिवर्तित करता है।
(B) चित्र :


चित्र : DC मोटर
(C) बनावट : इसके 4 मुख्य भाग है, जो निम्न हैं।
एक क्षेत्र चुम्बक, जो अवतल चुम्बकीय ध्रुव N–S रखती है, जो एक मजबूत चुम्बकीय क्षेत्र प्रदान करती है।
एक आर्मेचर, जो मोटर का गतिशील भाग है। इसके दो भाग है :
(i) पटलित शाफ्ट X–Y.
(ii) कॉपर की कुण्डली ABCD जो क्षेत्र के अंदर शाफ्ट के सिरे X पर लपेटी गर्इ है।
अलग-अलग धात्विक वलय R1 और R2 का एक युग्म (कम्यूटेटर)।
धात्विक कार्बन ब्रशों B1 व B2 का एक युग्म।
(D) क्रियाविधि : एक दिष्ट धारा (D.C.) स्त्रोत धात्विक ब्रशों B1 व B2 के मध्य जोड़ा जाता है। जब कुण्डली से धारा गुजरती है, यह भुजा CB और AD में प्रवाहित होती है जिसकी दिशा चुम्बकीय क्षेत्र के लम्बवत होती है। समान तथा विपरीत बल (फ्लैमिंग के बायें हाथ के नियम की दिशा में) इन भुजाओं पर लगता है और वे एक बल आघूर्ण युग्म का निर्माण करते हैं। कुण्डली दक्षिणावर्त दिशा में घूमती है। आधे घूर्णन के बाद, वलय के अलग-अलग भाग ब्रशों को बदलते हैं। भुजा में धारा विपरीत हो जाती है, किन्तु बलाघूर्ण उसी दिशा में लगता है जिसमें पहले था। कुण्डली लगातार उस शाफ्ट को घूमाती रहती है, जिस पर वह लिपटी है। इस प्रकार, घूर्णन गति (मोटर की क्रियाविधि) पूर्ण होती है।
घूर्णन एक एकल कुण्डली से ही करना आसान नहीं है। कुण्डली की संख्या को बढ़ाकर के (या बहुकला मोटर) या एक लगातार बाइन्डिंग का प्रयोग करके भी घूर्णन आसान किया जा सकता है।

यदि आप भी दुसरे स्टूडेंट्स / छात्र को ऑनलाइन पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी देना चाहते है तो इसे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर अधिक से अधिक शेयर करे | जितना ज्यादा शेयर होगा, छात्रों को उतना ही लाभ होगा | आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए है |

×

एन. टी. एस. ई . Physics (कक्षा X)


एन. टी. एस. ई . Physics (कक्षा IX)


विस्तार से अध्याय देखें

भौतिक विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

रसायन विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

भूगोल CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

जीव विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

लोकतांत्रिक राजनीति CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

अर्थशास्त्र CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

इतिहास CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें