Physics (NTSE/Olympiad)  

2. विध्युत धारा के चुम्बकीय प्रभाव

याद रखने योग्य बिन्दु

एक मुक्त रूप से लटकायी गयी चुम्बक हमेशा उत्तर दक्षिण में रहती हैं।
एक चुम्बक के चारों ओर का क्षेत्र जिसमें उसके चुम्बकीय बल का पता लगाया जा सके चुम्बकीय क्षेत्र कहलाता है।
चुम्बकीय क्षेत्र को चुम्बकीय बल रेखाओं द्वारा दर्शाया जाता है।
चुम्बकीय क्षेत्र के किसी भी बिन्दु पर स्पर्शज्या उस बिन्दु पर चुम्बकीय क्षेत्र की दिशा को बताती है।
एकांक क्षेत्रफल से गुजरने वाली विध्युत बल रेखाओं की संख्या क्षेत्र की तीव्रता को व्यक्त करती है। यदि बल रेखाओं की संख्या अधिक पास-पास है तो चुम्बकीय क्षेत्र अधिक प्रबल होगा।
एक सीधे धारावाही चालक के चारों ओर चुम्बकीय बल रेखाएँ चालक के चारों ओर संकेन्द्रीय वृत्त होती हैं।
एक सीधे धारावाही चालक के कारण चुम्बकीय क्षेत्र की दिशा फ्लैमिंग के दायें हाथ के नियम से दी जाती हैं।
एक धारावाही परिनालिका के कारण चुम्बकीय क्षेत्र एक छड़ चुम्बक के कारण क्षेत्र के समान होता है। एक परिनालिका के अंदर चुम्बकीय क्षेत्र लगभग नियत होता है और यह परिनालिका के अक्ष के समान्तर होता हैं।
धारा के चुम्बकीय क्षेत्र के कारण बनायी जाने वाली चुम्बक एक विध्युत चुम्बक कहलाती है। एक विध्युत चुम्बक निश्चित रूप से एक मुलायम लोहे की कोर रखती है जिसके चारों ओर विध्युत रूद्ध ताँबे के तार के घेरे लपेटे जाते हैं।
एक विध्युत मोटर वह उपकरण है जो विध्युत ऊर्जा को यांत्रिक ऊर्जा में परिवर्तित करती हैं। यह इस सिद्धांत पर आधारित है कि जब एक धारावाही कुण्डली एक चुम्बकीय क्षेत्र में रखी जाती है, इस पर एक बल आघूर्ण लगता हैं।
जब एक चालक एक चुम्बकीय क्षेत्र के लम्बवत् गति करता है, तो इसके सिरो पर एक विध्युत वाहक बल प्रेरित होता है। प्रेरित विध्युत वाहक बल या प्रेरित धारा की दिशा का फ्लैमिंग के सीधे हाथ के नियम से पता लगाया जाता है।
जनरेटर विध्युत चुम्बकीय क्षेत्र के सिद्धान्त पर आधारित होता है, जिसमें लगातार फ्लक्स में परिवर्तन हो रहा है, जिसके कारण एक विध्युत वाहक बल प्रेरित होता है।
शक्ति ग्रह से नगरों तक शक्ति को उच्च विभव व निम्न धारा पर भेजा जाता है ताकि शक्ति हानि न्यूनतम हो।
एक फ्यूज एक तार होता है जिसका प्रतिरोध उच्च होता है तथा निम्न गलन बिन्दु वाले पदार्थ का बना होता है।

यदि आप भी दुसरे स्टूडेंट्स / छात्र को ऑनलाइन पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी देना चाहते है तो इसे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर अधिक से अधिक शेयर करे | जितना ज्यादा शेयर होगा, छात्रों को उतना ही लाभ होगा | आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए है |

×

एन. टी. एस. ई . Physics (कक्षा X)


एन. टी. एस. ई . Physics (कक्षा IX)


विस्तार से अध्याय देखें

भौतिक विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

रसायन विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

भूगोल CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

जीव विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

लोकतांत्रिक राजनीति CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

अर्थशास्त्र CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

इतिहास CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें