Physics (NTSE/Olympiad)  

1. विध्युत

याद रखने योग्य बिन्दु

धारा : एक चालक से आवेश (Q) के प्रवाह की दर धारा कहलाती है। धारा (I) दी जाती है,
या I =
धारा की SI इकार्इ है (A) : 1A = 1 C/s
एक परिपथ में से बहने वाली धारा को उपकरण ‘अमीटर’ के द्वारा मापा जाता है। अमीटर को चालक के साथ श्रेणीक्रम में जोड़ा जाता है। धारा की दिशा धनात्मक आवेश के प्रवाहित होने की दिशा में ली जाती है।
ओम का नियम : किसी नियत ताप पर एक चालक में से प्रवाहित धारा (I) चालक पर लगाये गये विभवान्तर के सीधे समानुपाती होती है।
गणितीय रूप से,
I = या V = IR
प्रतिरोध : प्रतिरोध चालक का वह गुण होता है, जो उसके अंदर विध्युत प्रवाह का विरोध करता है। प्रतिरोध ‘ओम’ में मापा जाता है। प्रतिरोध एक अदिश राशि है।
प्रतिरोधकता : 1 मीटर भुजा के एक घन द्वारा दिया गया प्रतिरोध, जबकि धारा विपरीत फलकों के लम्बवत् प्रवाहित होती है, प्रतिरोधकता (ρ) कहलाती है। प्रतिरोधकता की SI इकार्इ ओम मीटर है।
तुल्य प्रतिरोध : एक अकेला प्रतिरोध जो प्रतिरोधों के संयोजन को इस तरह से विस्थापित करे ताकि परिपथ में धारा वही रहे। तुल्य प्रतिरोध कहलाता है।
श्रेणीक्रम में प्रतिरोधों के संयोजन का नियम : जब कर्इ सारे प्रतिरोध श्रेणीक्रम में जुडे़ हो, तो उनका तुल्य प्रतिरोध उनके अलग-अलग प्रतिरोधों के जोड़ के बराबर होता है।
यदि R1, R2, R3, इत्यादि को श्रेणीक्रम में जोड़ा गया है, तब तुल्य प्रतिरोध (R) दिया जाता है,
R = R1 + R2 + R3 + .....
कर्इ सारे प्रतिरोध श्रेणीक्रम में जुडे़ हो तो सभी का तुल्य प्रतिरोध प्रत्येक अलग-अलग प्रतिरोध से अधिक होता है।
समान्तर क्रम में जुडे़ प्रतिरोधों के संयोजन का नियम : जब बहुत सारे प्रतिरोध समान्तर में जोडे़ जाते है, तुल्य प्रतिरोध का व्युत्क्रम अलग-अलग प्रतिरोध के व्युत्क्रम के जोड़ के बराबर होता है।प्रत्येक अलग-अलग प्रतिरोध से कम होता है।
यदि R1, R2, R3, इत्यादि समान्तर क्रम में जोडे़ जाते है तब तुल्य प्रतिरोध (R) दिया जाता है।

समान्तर क्रम में जुडे़ बहुत सारे प्रतिरोधों का तुल्य प्रतिरोध प्रत्येक अलग-अलग प्रतिरोध से कम होता है।

यदि आप भी दुसरे स्टूडेंट्स / छात्र को ऑनलाइन पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी देना चाहते है तो इसे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर अधिक से अधिक शेयर करे | जितना ज्यादा शेयर होगा, छात्रों को उतना ही लाभ होगा | आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए है |

×

एन. टी. एस. ई . Physics (कक्षा X)


एन. टी. एस. ई . Physics (कक्षा IX)


विस्तार से अध्याय देखें

भौतिक विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

रसायन विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

भूगोल CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

जीव विज्ञान CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

लोकतांत्रिक राजनीति CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

अर्थशास्त्र CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें

इतिहास CBSE कक्षा 9th व 10th कोर्स देखें